भारत के महत्वपूर्ण अभयारण्य (Important Sanctuaries of India in Hindi)

अभयारण्य (Sanctuaries)

वन्य जीवों के महत्व को देखते हुए इनके संरक्षण के लिए राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कई प्रयास किये गये हैं। इनके संरक्षण के लिए सरकारी स्तर पर कई कानून भी बनाये गये हैं। अगर हम इनका ईमानदारी से पालन करें तो विलुप्त हो रहे जीवों को विलुप्त होने से बचा सकते हैं।

भारत सरकार ने राष्ट्रीय वन नीति के अन्तर्गत वनस्पति एवं जन्तुओं को विलुप्त होने से बचाने के लिए राष्ट्रीय उद्यान, अभयारण्य एवं जन्तु उद्यान स्थापित किये हैं। भारत में दिसम्बर 2020 तक कुल 104 राष्ट्रीय उद्यान तथा मई 2019 तक कुल 543 अभयारण्य हैं, जिनमें वन्य जीवों को संरक्षित किया जाता है।

"अभयारण्य (Sanctuaries) ऐसे वृहद वन क्षेत्र होते हैं, जिनकी कोई सीमा निर्धारित नहीं होती है, जहाँ पर जीव-जन्तुओं को उनके प्राकृतिक आवास में कम से कम मानव हस्तक्षेप के अन्दर संरक्षित किया गया हो, जहाँ पर टूरिज्म (Tourism) की इजाजत हो, शोध कार्य (Research) एवं वैज्ञानिक गतिविधियों का अभाव हो।"

भारतवर्ष के प्रमुख अभयारण्य (Important Sanctuaries of India)

हमारे देश के कुछ प्रमुख अभयारण्य निम्नलिखित हैं -

1. गिर वन ( Gir forest) - यह गुजरात में स्थित है तथा 500 वर्ग मील में फैला है। यह भारतीय सिंहों का शरण स्थल (Sanctuary) है, लेकिन इसमें चीतल, चिंकारा, सांभर तथा नील गाय भी पाये जाते हैं।

2. काजीरंगा (Kaziranga) - यह असम में ब्रह्मपुत्र नदी के किनारे 40 किमी के क्षेत्र में फैला है। एक सींग वाला गैंडा यहाँ का मुख्य वन्य जीव है।

3. कान्हा शरण स्थल (Kanha Sanctuary) - यह मध्य प्रदेश में स्थित है। यह बाघ, चीता, शेर, जंगली कुत्तों तथा हिरण का शरणस्थल है।

4. बाँदीपुर (Bandipur) - यह कर्नाटक में स्थित है। यह बिसन (Bison), जंगली कुत्ते, जंगली हाथी, लंगूर, बाघ और सेही का शरण स्थल है।

5. अन्नामलाई शरण स्थल (Annamalai Sanctuary) - यह तमिलनाडु के कोयम्बटूर जिले में स्थित है। इसमें विभिन्न प्रकार के हिरण जैसे-सांभर, चीतल, काँकड़, बाघ, चीता, साँड़, सेही तथा लंगूर आदि देखे जा सकते हैं।

6. मानस शरण स्थल (Manas Sanctuary) - यह असम में हिमालय की निचली पहाड़ियों में स्थित है। जंगली हाथी, बाघ, जंगली भैंस तथा पक्षियों में बतख, पैलिकन नामक वन्य जीव इसमें पाये जाते हैं। इसे उत्तरी कामरूप शरणस्थल भी कहते हैं।

7. अभयारण्य (Mudunalai Sanctuary) - यह तमिलनाडु के नीलगिरि क्षेत्र में स्थित है। यह लंगूर, बन्दर, जंगली साँड़, सांभर, चीतल, हाथी, सेही, उड़ने वाली गिलहरी, बोनेट बन्दर, भेड़िया, बाघ, • चील आदि का अभयारण्य है।

8. घाना पक्षी अभयारण्य (Ghana Bird Sanctuary) - यह राजस्थान के भरतपुर जिले में स्थित है। यह साइबेरियन सारस, पनकौआ, बटेर, बगुला, स्टार्क इत्यादि पक्षियों के संरक्षण के लिये प्रसिद्ध है।

9. पेरियार अभयारण्य (Periyar Sanctuary) - यह केरल राज्य में 1900 फुट की ऊँचाई पर एक झील के चारों तरफ स्थापित है। इस अभयारण्य में साँभर, काँकड़, जंगली सुअर साँड़, हाथी, जंगली कुत्ते और बाघ पाये जाते हैं। 

10. जलदापारा अभयारण्य (Jaldapara Sanctuary) - यह पश्चिम बंगाल में स्थित गैंडों का अभयारण्य है।

11. मुन्डन्थुराई अभयारण्य (Mundanthurai Sanctuary) - यह तमिलनाडु में स्थित बाघ, चीता, साँभर, चीतल एवं तेंदुआ का शरणस्थल है। इसकी स्थापना सन् 1962 में की गई थी।