हॉट एयर ओवन पर टिप्पणी (Comments on Hot Air Oven in Hindi)

हॉट एयर ओवन (Hot Air Oven)

हॉट एयर ओवन एक ऐसा ओवन है, जिसमें प्रयोगशाला उपकरणों एवं अन्य सामग्रियों का निजमकरण करने के लिये शुष्क ऊष्मा (Dry heat) का उपयोग किया जाता है। इसे फोर्स्ड एयर सर्कुलेटरी ओवन (Forced air circulatory oven) भी कहते हैं। इस ओवन में गर्म हवा को सर्कुलेट करने के लिये ब्लोअर (Blower) या पंखे लगे होते हैं।

हॉट एयर ओवन का उपयोग प्रयोगशाला में काँच के उपकरणों, धातु से बने डिवाइसेस (Devices) तथा अन्य ठोस सामग्रियों का निजमकरण करने के लिये किया जाता है। इस ओवन के द्वारा उपकरणों में उपस्थित सूक्ष्मजीवों का विनष्टीकरण उनमें उपस्थित रासायनिक संघटकों के ऑक्सीकरण के कारण होता है। इसके द्वारा किसी पदार्थ को सुखाने की प्रक्रिया भी तेजी से होती है।

इस ओवन के आधारीय भाग में हीटिंग एलीमेन्ट (Heating element) स प्रकार से फिट किया हुआ होता है कि ओवन के आन्तरिक प्रकोष्ठ की हीटिंग एक समान (Uniformely) होती है। यह ओवन विद्युत स्विच ऑन करते ही अपना कार्य प्रारंभ कर देता है।

हॉट एयर ओवन का उपयोग करके ड्राई हीट स्टेरीलाइजेशन (Dry heat sterilization) की प्रक्रिया का विकास सर्वप्रथम लुईस पाश्चर (Louis Pasteur) ने किया था। हॉट एयर ओवन में तापमान की सीमा 50 से 300°C तक होती है। इसका नियंत्रण एक तापमान नियंत्रक (Temperature regulator) के द्वारा किया जाता है।

हॉट एयर ओवन के भाग एवं उनके कार्य (Components of Hot Air Oven and its Functions)

हॉट एयर ओवन निम्नलिखित भागों से मिलकर बना होता है -

1. बाह्य कैबिनेट (External cabinet) - यह स्टेनलेस स्टील की शीट से बना होता है तथा यह आन्तरिक कैबिनेट को बन्द करके रखता है।

2. आन्तरिक कैबिनेट (Inner cabinet) - यह कैबिनेट बाह्य कैबिनेट के नीचे कुछ दूरी पर होता है। यह कैबिनेट भी स्टेनलेस स्टील का बना होता है।

3. ग्लास वूल इन्सुलेटर (Glass wool insulator) - बाह्य एवं आन्तरिक कैबिनेट या प्रकोष्ठ के मध्य उपस्थित रिक्त भाग में ग्लास वूल (Glass wool) भरा होता है। यह हॉट एयर ओवन का इन्सुलेशन करके ऊष्मा की हानि को रोकता है।

4. ट्यूब्यूलर एवर हीटर ( Tubular air heater) - ओवन के चेम्बर के अन्दर दोनों ओर एक-एक ट्यूब्यूलर एयर हीटर लगा होता है। ये हीटर ओवन के चेम्बर के अन्दर ऊष्मा उत्पन्न करते हैं।

5. मोटर ड्राइवेन ब्लोवर या फैन (Motor driven blower or fan) - ओवन के अन्दर एक ब्लोवर या फैन लगा होता है। यह ब्लोवर ओवन के अन्दर गर्म वायु का सर्कुलेशन करके सम्पूर्ण चेम्बर में एक समान तापमान बनाये रखता है।

6. तापमान सेंसर (Temperature sensor) - यह सेंसर ओवन के अन्दर के तापमान को सेंस करके कन्ट्रोलर स्क्रीन पर तापमान को प्रदर्शित करता है।

7. ट्रे स्लॉट्स (Tray slots) - ओवन के अन्दर दोनों पाव में उपस्थित आन्तरिक कैबिनेट में ट्रे को रखने के लिए कई स्लॉट्स (Slots) बने होते हैं।

8. PID तापमान नियंत्रक (PID temperature controller) - यह नियंत्रक स्विच चालू करने के पश्चात् ओवन के अन्दर एक निश्चित तापमान को बनाये रखता है। यह तापमान का नियंत्रण करने के साथ-साथ तापमान को प्रदर्शित भी करता है।

9. लोड सूचक (Load indicator) - इससे हॉट एयर ओवन के लोड एवं ओवरलोड की जानकारी प्राप्त होती है।

10. मुख्य ऑन/ऑफ स्विच (Main on/off switch) -  चालू तथा बन्द की जाती है। इसकी सहायता से ओवन में विद्युत् आपूर्ति

11. थर्मोस्टेट (Thermostate) - इसे ओवर टेम्परेचर प्रोटेक्शन डिवाइस (Over temperature protection device) भी कहते हैं। थर्मोस्टेट के कारण ही हॉट एयर ओवन का तापमान स्थिर बना रहता है। थर्मोस्टेट एक तापमान नियंत्रक डिवाइस है, जो कि चेम्बर के अन्दर के तापमान को सेंस करता है तथा यह ओवन के अन्दर सेट किये गये तापमान को स्थिर बनाये रखता है। तापमान बढ़ने पर यह बन्द हो जाता है तथा तापमान कम होने पर यह पुनः अपने आप चालू हो जाता है।

हॉट एयर ओवन का कार्यकारी सिद्धान्त (Working Principle of Hot Air Oven)

हॉट एयर ओवन में विद्युतधारा प्रवाहित करने पर उसमें उपस्थित ट्यूब्यूलर हीटर के द्वारा ओवन के चेम्बर में ऊष्मा उत्पन्न होती है। यह ऊष्मा अन्दर की वायु को गर्म कर देती है। यह गर्म हवा ब्लोवर के द्वारा ओवन के अन्दर समान रूप से प्रवाहित होती है। हम जानते हैं कि गर्म हवा ऊपर की ओर जाती है। अत: ओवन के अन्दर भी गर्म हवा ऊपर की ओर बढ़ती है तथा वह ओवन के अन्दर के ऊपरी भाग पर जाने के पश्चात् पुनः आधारीय भाग की ओर वापस आती है। सर्कुलेटिंग फैन इस गर्म हवा को पूरे चेम्बर में समान रूप से वितरित कर ओवन के अन्दर का तापमान एक समान बनाये रखते हैं। उपकरणों का निजमकरण अथवा शुष्कत करते समय एक निश्चित तापमान पर इन्हें ओवन के अन्दर लगभग दो घण्टे या वांछित अवधि तक रखा जाता है। निजमकरण या शुष्कन पूर्ण होने के पश्चात् सामग्री को ठंडा होने के पश्चात् ही बाहर निकाला जाता है।

हॉट एयर ओवन के उपयोग (Uses of Hot Air Oven)

1. हॉट एयर ओवन का उपयोग ठोस उपकरणों, काँच के उपकरण (जैसे-पेट्रीडिश, फ्लास्क, पीपेट एवं टेस्ट ट्यूब आदि), तेल या नमीयुक्त पाउडर (जैसे-स्टार्च, जिंक ऑक्साइड, सल्फाडायजिन, आदि) तथा घोत्विक उपकरण (जैसे—स्कैलपेल्स, कैंची एवं ब्लेड आदि) का निजमकरण करने के लिये किया जाता है।

निजमकरण के लिये ओवन में रखने के पूर्व काँच के उपकरणों को पूरी तरह सुखा लिया जाता है अन्यथा इनके टूटने का डर बना रहता है। इसी प्रकार निजमकरण के लिए ओवन में रखने के पश्चात् भी काँच के गर्म उपकरणों को भी ठण्डा होने के उपरान्त हो ओवन से बाहर निकालना चाहिये क्योंकि बाहरी वातावरण के तापमान और काँच की सामग्री के ताप में अन्तर होने से भी इनके टूटने का खतरा बना रहता है।

2. हॉट एयर ओवनों का उपयोग सूक्ष्मजीवों एवं जीवाणु के बीजाणुओं को नष्ट करने में भी किया जाता है।

3. हॉट एयर ओवन का उपयोग पादप नमूनों को सुखाने के लिये भी किया जाता है।

Hot air oven par tippani

Previous Post Next Post